सर्दियों में साइनस आपके डेली रूटीन को बिगाड़ सकती है, राहत पाने के लिए करे ये 5 योगासन

Yoga Asanas to Prevent Sinus

Yoga Asanas to Prevent Sinus:  कई बीमारियों का खतरा भी बढ़ जाता हैसर्दियों का मौसम आते ही.  आम बीमारियां हैं सर्दी, जुकाम और बुखार ठंड के दिनों की. यह सामान्य फ्लू हो सकता है अगर जुकाम कुछ दिनों तक रहता है तो जो लगभग एक सप्ताह में अपने आप ठीक हो जाता है. लेकिन, अगर एक सप्ताह से अधिक दिनों तक जुकाम की समस्या रहती है तो आपको समस्या हो सकती है साइनस की. साइनस से ग्रसित लोगों में सांस लेने में दिक्कत, नाक का बहना, नाक में खुजली होना सिर दर्द, जैसी समस्या पाई जाती हैं.

साइनस आमतौर पर इंफेक्शन की बीमारी है हेल्थशॉट्स की खबर के अनुसार लेकिन, लोग इसे  बीमारी समझते हैं नाक की. जो ज्यादातर बाहर और भीड़भाड़ वाले इलाके में रहते हैं यदि आप एक ऐसे लोगों में हैतो आप संक्रमण की वजह से साइनस की चपेट में आ सकते हैं बहुत अधिक संभावना है कि. साइनस से पीड़ित लोगों को अधिक दिक्कत हो सकती है ठंडी हवा, धूल के कण या फिर धुएं से.

सांस लेने में काफी दिक्कत होती है साइनस होने पर पीड़ित को ऐसे में आप ले सकते हैं हेल्थ एक्सपर्ट की सलाह लेकिन  साइनस की वजह से होने वाली ब्रीदिंग समस्या को हल कर सकते हैं.कुछ योगासन के माध्यम से भी आइए जानते हैं कि कौन कौन से योगासन किए जा सकते हैं साइनस होने पर…

यहां 5 योग मुद्राएं हैं साइनस के दबाव को दूर करने के लिए:

Vajrasana

वज्रासन
–  पीछे की तरफ फोल्ड करके जमीन पर बैठें इस आसन में पैरों को
–  एड़िया आपस में सटी रहें ध्यान रहे कि पीछे की तरफ.
–  एक दूसरे के बगल में रखें पैर की उंगलियों को.
–  घुटनों पर ऊपर की ओर रखें दोनों हाथों की हथेलियों को
–  आपकी रीढ़ की हड्डी पूरी तरह से सीधी रहनी चाहिए आसन करते हुए.
–  इसी पोजिशन में करें कुछ देर इस आसन को.

halasana

हलासन
–  आप पीठ के बल लेट जाएं इस आसन को करने के लिए,
– शरीर के बगल में एकदम सीधा रखें अब अपने दोनों हाथों को.
–  पैरो को सीधा रखकर ऊपर की तरफ सीधा खड़ा करें अब हथेलियों पर दबाओ डालते हुए.
–  पीठ को सीधा खड़ा करने की कोशिश करें अपनी हथेलियों के सहारे से.
–  इसी स्थिति में रहें अब कुछ देर तक.

young attractive woman in sarvangasana pose

सर्वांगासन
–  पीठ के बल लेटकर ही किया जाता है इस आसन को भी.
– सटा कर रखें अपनी बाहों शरीर से .
–  उठाएं और अपने पैरों को आकाश की तरफ सीधा रखें धीरे से अपने पैरों को फर्श से.
–  अपनी छाती छूने की कोशिश करें कमर को ऊपर की तरफ उठाएं और अपनी ठुड्डी के.

padhastasana pose

पादहस्तासन
–  जिसमें अपने पैरों को अपने हांथों से छूना होता है यह एक ऐसा आसन है.
–  शरीर के ऊपरी भाग को नीचे की तरफ झुकाना होता है इसे करने के लिए आपको एकदम सीधा खड़ा होकर.
– आपके दिल के नीचे होता है और अपनी नाक से अपने घुटने को छूने की कोशिश करें इस आसन को करते समय आपका सिर .
–  आपकी दोनो हथेली पैरों पर होनी चाहिए ध्यान रहे कि इस समय.

easy asana Savasana

शवासन
–  सबसे आसान आसन के रूप में गिना जाता है शवासन सभी आसनों में.  प्लेन फर्श पर योगा मैट बिछाकर सीधे लेटना होगा इसे करने के लिए आपको लेकिन आपको तकिए का प्रयोग नहीं करना ध्यान रहे.

–  घुटने पंजे को पूरी तरह से आराम की मुद्रा में छोड़ दें और इसे करते समय अपने पैरो को फैला लें.

–  हथेलियों को आसान की तरफ खुला रखें और अपने हाथों को शरीर से थोड़ा दूर रखें.

– अब आपको ध्यान केंद्रित करना है अपने शरीर के हर अंग पर और अपने पैरों की उंगलियों से इसकी शुरुआत आपको करना होगा. गहरी सांस लें इसे करते समय.

– आप जब भी बहुत अधिक थकावट महसूस करें तो कुछ ही देर में आपक बड़ा आराम देगा शवासन .